नियुक्तियों को लेकर स्वयं विधानसभा अध्यक्षा ऋतु खण्डूड़ी फंसी विवाद में: दिल्ली और पौड़ी दोनों जगह वोटर होने का भी आरोप

Spread the love

जयसिंह रावत
देहरादून, 30 सितम्बर। ईमान्दारी, उत्तराखण्ड प्रेम और प्रदेश के युवाओं के हितों की रक्षा का ज्ञान देने वाली उत्तराखण्ड विधानसभा की अध्यक्षा ऋतु खण्डूड़ी स्वयं भी नियुक्तियांे को लेकर विवाद में फंस गयी हैं। आरोप है कि उन्हें स्वयं उत्तराखण्ड के युवाओं पर भरोसा नहीं है इसलिये वह अपने लिये स्टाफ भी बाहरी प्रदेशों से लेकर आयी हैं। श्रीमती ऋतु द्वारा की गयी नियुक्तियों की जो लिस्ट वायरल हो रही है उसे भी अन्य विवादास्पद नियुक्तियों की सूचियों की तरह सत्ताधारी भाजपा के अन्दर से ही वायरल हुयी है। इसलिय नवीनतम सूची भी भाजपा के अन्दरूनी संकट का ही संकेत दे रही है।
विधानसभा में ताजा नियुक्तियों को लेकर विपक्षी दलों को सत्ताधारी दल और उसकी सरकार को घेरने का एक और मौका मिल गया है। कांग्रेस, उक्रांद, आप, माकपा और माकपा (माले) जैसे दल न केवल विधानसभा अध्यक्षा की न खाऊंगी और न खाने दूंगी के नीति वाक्य का मखौल उड़ा रहे हैं अपितु विधानसभा अध्यक्षा से प्रदेश के युवाओं से माफी मागने की मांग भी कर रहे हैं। माकपा (माले) के गढ़वाल मण्डल सचिव इंदरेश मैखुरी ने यहां तक व्यंग्य किया कि स्वयं ऋतु खण्डूड़ी बाहरी नेता हैं, क्योंकि उन्होंने अपने चुनावी शपथपत्र में दिल्ली का पता दे रखा है जहां उनके आइएएस पति सेवारत् हैं।

ऋतु  खंडूरी द्वारा बाहरी नियुक्तियों के साथ ही सोशल मीडिया में दिल्ली के राम कृष्णा पुरम की वह वोटर लिस्ट भी आ गयी है जिसमें ऋतु भूषण के साथ ही उनके पति राजेश भूषण, बेटी देवयानी और उनका स्वयं का नाम क्रम संख्या  613 पर है और पता जी-305  आर. के. पुरम दिखाया गया हैं ।  यह सूचि 1  जनवरी 2022  की है ।

इसी साल फरबरी में हुये उत्तराखण्ड विधानसभा के चुनाव में श्रीमती ऋतु खण्डूड़ी भूषण ने अपना पता जी0 305 सोम विहार आर.के. पुरम ही दे रखा है। जाहिर है कि जब उन्होंने कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र से जब 28 जनवरी 2022 को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया तो उस समय वह उत्तराखण्ड की नही बल्कि आर.के.पुरम नयी दिल्ली की मतदाता भी थी। जबकि उसी दौरान उनका नाम उत्तराखण्ड केपौड़ी जिले के 37 पौड़ी विधानसभा क्षेत्र केभाग संख्या 128 के क्रम संख्या 571 पर भी दर्ज था। हालांकि उन्होंने जब 28 जनवरी को कोटद्वार सीट पर नामांकन भरा तो उस समय उन्होंने दिल्ली के आर.के.पुरम का ही पता दिया।
विधानसभा अध्यक्षा द्वारा की गयी नियुक्तियों की वारल सूची इस प्रकार है:-

उत्तराखंड की विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी द्वारा की गई प्रदेश से बाहर बिहार और दिल्ली के लोगों की इन नियुक्तियों के बारे में आप क्या कहेंगे !!क्या उत्तराखंड का कोई भी बेरोजगार इन नियुक्तियों के लायक नहीं था !! इनकी नियुक्तियों के लिए क्या प्रक्रिया अपनाई गयी ? कहां विज्ञापन निकला? किसने फार्म भरे?  कहां पेपर हुए?
*(1)विशेष कार्याधिकारी* (विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण) – *अशोक शाह* पुत्र स्व डी एल शाह निवासी *मकान नंबर सी-5-बी , 11 बी ,सी 5 बी ब्लॉक, जनकपुरी पश्चिमी दिल्ली, दिल्ली ।*
सैलरी – *लेवल 10 तनख्वाह लगभग #एक लाख प्रतिमाह*
*(2)सहायक जन सम्पर्क अधिकारी* (विधान सभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण)  – *आभास सिंह* पुत्र श्री भूपेंद्र सिंह निवासी *फ्लैट नंबर 1103, ब्लॉक ए , 6 एवेन्यू , गौर सिटी 1, नोएडा एक्सटेंशन, उत्तर प्रदेश*
*सैलरी* – लेवल 7 लगभग तनख्वाह *60 हजार प्रति माह*।
*(3) सहायक सूचना अधिकारी* (विधान सभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण) – *उत्कर्ष रमन* पुत्र श्री विजेंदर प्रताप पाण्डेय,निवासी – *मूल निवासी पटना बिहार*
*सैलरी* – लेवल 7 तनख्वाह लगभग *60 हजार रुपए*
*(4) सलाहकार* (विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण) – *ललित डागर* निवासी *28 कैलाश नगर , नई दिल्ली , दिल्ली
ये है युवाओं की मसीहा बनी विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण जिन्होंने अपने सभी निजी स्टाफ पर उत्तराखंड  के बाहर के लोगो को तरजीह दी गयी है । क्या उन्हें  उत्तराखंड का एक भी युवा इस काबिल नही लगा जो इस योग्य हो ।
ये है विधानसभा अध्यक्ष का उत्तराखंड के प्रति लगाव व विधानसभा अध्यक्ष का विशेषाधिकार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!