प्रधानमंत्री की बद्री केदार यात्रा के लिए आपात लैंडिंग की व्यवस्था : गौचर बदला छावनी में

Spread the love

–गौचर से दिगपाल गुसाईं —
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बद्रीनाथ दौरे के दिन आपातकालीन लैंडिंग के लिए जनपद चमोली के गौचर में भी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। तमाम खुफिया एजेंसियों ने जहां हवाई पट्टी के चारों ओर अपनी पैनी नजर गाड़ दी है वहीं सुरक्षा की दृष्टि से गौचर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।


देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 21 अक्टूबर को बद्रीनाथ जाने का कार्यक्रम है। हालांकि गौचर में उनका कोई कार्यक्रम नहीं है लेकिन प्रधानमंत्री के दौरे के दिन अगर मौसम का मिजाज बिगड़ा तो उनके हवाई काफिले की गौचर हवाई पट्टी में आपातकालीन लैंडिंग कराई जा सकती है इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस व खुफिया एजेंसियों ने हवाई पट्टी को चारों ओर से घेर लिया है। परिंदा भी पैर न मार सके इसके लिए चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात करने की योजना बनाई गई है।

 

कर्णप्रयाग के उपजिलाधिकारी संतोष कुमार पांडेय अपने सहयोगियों के साथ सुरक्षा व्यवस्था पर पैनी नजर गढ़ाए हुए हैँ। अगर प्रधानमंत्री का काफिला गौचर में रुकता है तो उनके रहने खाने के लिए सीमा सड़क संगठन के अधिकारी मेस व भारत तिब्बत सीमा पुलिस वल की 8 वीं वाहिनी के अतिथि गृह में पूरी व्यवस्था कर ली गई है। खुफिया एजेंसियों ने इन अतिथि गृहों को अपने कब्जे में ले लिया है। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में लगे सभी अधिकारियों व कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट भी करा लिया कंगया है। दरअसल 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के केदारनाथ दौरे के दिन मौसम इतना खराब हो गया था कि उनके हवाई काफिले को गौचर हवाई पट्टी पर उतारना पड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!