सुरक्षा

ऑफ “बैटल ऑफ माइंड्स” क्विज़ प्रतियोगिता का क्वार्टर फाइनल

देहरादून, 22  नवंबर । 2024 में कारगिल जीत के 25 वर्षों का उत्सव मनाने के लिए, भारतीय सेना ने राष्ट्र निर्माण हेतु कई साहसिक, सांस्कृतिक और शैक्षिक गतिविधियों का आयोजन किया है।भारतीय सेना की एडजुटेंट जनरल ब्रांच के तहत आर्मी वेलफेयर एजुकेशन सोसाइटी (AWES) द्वारा की गई ऐसी एक पहल भारत की सबसे बड़ी स्कूल क्विज़ प्रतियोगिता का आयोजन है जिसका नाम भारतीय सेना क्विज़ 2023 है और जिसे "बैटल ऑफ माइंड्स" के रूप में भी जाना जाता है। इस क्विज़ ने देश भर में 32441 स्कूलों को राउंड 1 के लिए -ऑनलाइन मोड में पंजीकृत किया और 3600 स्कूल राउंड -2 में पहुंचे। दो ऑनलाइन राउंड के बाद, देश के केवल 216 स्कूलों ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। 216 स्कूलों में से सूर्य कमांड के 15 स्कूल उत्तरप्रदेश, उत्तरांचल और झारखंड जैसे के विभिन्न राज्यों से बीरपुर में क्वार्टर फाइनल में भाग लेने के लिए देहरादून आए।


देहरादुन कैंट में बीरपुर ऑडिटोरियम में आयोजित क्वार्टर फाइनल में रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। देहरादुन कि वीर नारियों, कारगिल युद्ध वीर , वीरता पुरस्कार विजेता, प्रतिष्ठित खिलाड़ी और सैन्यकर्मियों के साथ विभिन्न स्कूलों के छात्रों ने रोमांचक क्वार्टर फाइनल देखा। ब्रिगेडियर मंगत मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। सनबीम स्कूल लहरतारा, आर्मी पब्लिक स्कूल अयोध्या, सेंट जॉन्स स्कूल बीएलडब्ल्यू, डॉ वीरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर अवधपुरी, आर्मी पब्लिक स्कूल कानपुर और पाइनवुड स्कूल सहारनपुर की कुल 06 टीमों ने सेमी फाइनल के लिए अर्हता प्राप्त की, जो 23 नवंबर 2323 को आईएमए में निर्धारित है। सभी प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि द्वारा प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया। आमंत्रित अतिथियों को भी समाज में उनके योगदान के लिए मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया गया।

छात्रों को नई पीढ़ी के हथियारों और इन्फैंट्री यूनिट के उपकरणों को देखने का अवसर मिला और उन्होंने वीर नारियों, कारगिल युद्ध वीर, वीरता पुरस्कार विजेता, प्रतिष्ठित खिलाड़ी और सैन्यकर्मियों के साथ भी बातचीत की। मुख्य अतिथि ने छात्रों को सेना में शामिल होने और राष्ट्र निर्माण की दिशा में योगदान करने के लिए प्रेरित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!