ब्रेन स्टिमुलेशन से लकवाग्रस्त चेहरे माइग्रेन, सेरेब्रल पाल्सी का उपचार संभव

Spread the love

टीएमयू में डिपार्टमेंट ऑफ़ फिजियोथेरेपी की ओर से इंनोवेटिव ट्रेंड्स इन ब्रेन स्टिमुलेशन पर अतिथि व्याख्यान

 मुरादाबाद, 11 सितम्बर (उहि)।   एम्स, दिल्ली की सीनियर रिसर्च अधिकारी डॉ. ख्याति ने कहा, ब्रेन स्टिमुलेशन के जरिए लकवाग्रस्त चेहरे, उच्च रक्तचाप, माइग्रेन, सेरेब्रल पाल्सी का उपचार संभव है। ब्रेन स्टिमुलेशन की मार्फ़त न्यूरो की औऱ दीगर बीमारियों का ट्रीटमेंट संभव है। वह अब तक करीब सौ मरीजों पर परीक्षण कर चुकी हैं। तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ़ फिजियोथेरेपी की ओर से डॉ. ख्याति इंनोवेटिव ट्रेंड्स इन ब्रेन स्टिमुलेशन पर आयोजित अतिथि व्याख्यान में बतौर गेस्ट बोल रही थीं। डॉ. ख्याति देश के जाने-माने भौतिक चिकित्सकों में गिनी जाती हैं। वर्तमान में वह डायरेक्टर, प्रत्यक्ष मेडिकल केयर और नवीन ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल की एचओडी हैं। इससे पूर्व टीएमयू की डिपार्टमेंट ऑफ़ फिजियोथेरेपी की एचओडी डॉ. शिवानी एम कौल ने बुके देकर उनका स्वागत किया।

वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे पर आयोजित इस गेस्ट लेक्चर में डिपार्टमेंट ऑफ़ फिजियोथेरेपी की एचओडी डॉ. शिवानी एम कौल बोलीं, भौतिक चिकित्सा पद्धति से जटिल बीमारियों का सफलतापूर्वक उपचार किया जा सकता है। स्टुडेंट्स को प्रेरित करते हुए कहा, फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में करियर की अपार संभावनाएं हैं। व्याख्यान में फिजियोथेरेपी के फैकल्टी मेंबर्स- डॉ. शीतल मल्हान, डॉ. फरहान खान, डॉ. शाजिया मट्टू, डॉ. नंदकिशोर, डॉ. हिमानी शाह, डॉ. कोमल नागर, डॉ. समर्पिता सेनापति, डॉ. प्रिया शर्मा आदि की मौजूदगी रही। गेस्ट लेक्चर्स में बीपीटी तृतीय और चतुर्थ वर्ष, एमपीटी समेत कुल 130 स्टुडेंट्स शामिल रहे। अंत में प्राचार्य डॉ. कौल ने डॉ. ख्याति को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के कॉऑर्डिनेटर डॉ. हरिश शर्मा रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!