धर्म/संस्कृति/ चारधाम यात्रा

बधाण की नंदादेवी राजराजेश्वरी की लोकजात छ्ठे पड़ाव सूना गांव पहुंची

-रिपोर्ट हरेंद्र बिष्ट-

थराली। आज बधाण की श्री नंदादेवी राजराजेश्वरी की लोकजात यात्रा अपने सातवें पड़ाव चेपड़ो पहुंचेगी। जहां पर थोकदारों के द्वारा देवी की विशेष पूजा की जाएगी।इससे पहले गुरुवार को यात्रा अपने पांचवें पड़ाव सोल डुंग्री से केरा,मैन होते हुए छ्ठे पड़ाव सूना गांव पहुंच गई है।

गुरुवार को डुंग्री में नंदादेवी भगवती की उत्सव डोली को डुंग्री, रूईसाण , बूंगा, बुरसोल,गेरूण, रतगांव,गुमण सहित आसपास के ग्रामीणों ने पूजा अर्चना कर मनौतियां मांगी।इस दौरान डुंग्री एवं रूईसाण के ग्रामीणों ने यहां पर भंडारा लगा कर श्रद्धालुओं को देव प्रसाद वितरित किया। इसके बाद देवी की यात्रा केरा गांव पहुंची यहां पर भी देवी भक्तों ने यात्र एवं यात्रा में सम्लित यात्रियों का स्वागत किया। इसके बाद यात्रा दोपहर के भोजन के मैन गांव में पहुंची यहां पर भी यात्रा का ग्रामीणों ने गर्मजोशी के स्वागत किया। इसके बाद देर सांय यात्रा अपने छठे पड़ाव सूना गांव में पहुंच गई है।
यात्रा मार्ग पर नंदादेवी राजराजेश्वरी मंदिर कमेटी कुरूड परगना,नंदाक बधाण समिति के अध्यक्ष नरेश गौड़, पुजारी कनिहया प्रसाद गौड़, बचीराम गौड़,धनी राम गौड़, दमाराम गौड़,अनसुया प्रसाद गौड़, किशोर गौड़ आदि ने नंदा भक्तों की पूजा करवाईं।मैन,केरा गांव में ग्राम प्रधान प्रताप सिंह बिष्ट, क्षेपंस मंजू देवी, थराली के पूर्व प्रमुख बख्तावर सिंह नेगी,सोल विकास समिति के अध्यक्ष चरण सिंह रावत, डॉ.मनमोहन नेगी, योगंबर सिंह नेगी, दलवीर बिष्ट, पुष्कर सिंह बिष्ट, कुंवर सिंह नेगी,भीम सिंह नेगी, महिला मंगल दल की अध्यक्ष उषा देवी, मनमोहन शाह, विरेंद्र नेगी ने यात्रा का स्वागत करते हुए विदा किया। जबकि सूना गांव में प्रधान कैलाश देवराड़ी, अनिल देवराड़ी,भूवन देवराड़ी,नरेश देवराड़ी, पुरषोत्तम देवराड़ी, राकेश देवराड़ी, प्रेम देवराड़ी आदि ने यात्रा का भव्य रूप से स्वागत किया।पूरे यात्रा मार्ग के गांवों में महिलाओं एवं पुरुषों पर देवी, देवता के अंश अवतारित होते रहे देव पश्वावों ने नाचते हुए भक्तों को आशीर्वाद दिया।
——–
सूना गांव में अमावस्या की मध्यरात्रि को देवी के काली रूप की पूजा की जाएगी। सूना के सामने पिंडर नदी के उस पार कुलसारी में जहां दक्षिण काली का मंदिर हैं, और यहां पर भूमिगत श्रीयंत्र स्थापित हैं।श्री नंदादेवी राजजात यात्रा का कुलसारी महत्वपूर्ण पड़ावों में से एक हैं।सूना के ग्रामीणों के अनुसार कालरात्रि की पूजा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं मध्य रात्रि में पूजा संपन्न करवाईं जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!