नरेन्द्र नगर में राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वाधान में छात्र/छात्राओं ने चलाया पर्यावरण संरक्षण अभियान

Spread the love

नरेन्द्र नगर, 15 सितम्बर। धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय नरेन्द्र नगर में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के तत्वाधान में छात्र/छात्राओं ने वन विभाग मुनि की रेती के सहयोग से महाविद्यालय के मुख्य द्वार धोलापानी नेशनल हाईवे के आस-पास वृहद वृक्षारोपण एवं प्राकृतिक जल स्रोतों की साफ-सफाई का अभियान चलाया गया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोo राजेश कुमार उभान और प्रभागीय वन अधिकारी मनमोहन सिंह बिष्ट नरेन्द्र नगर ने संयुक्त रूप से किया । प्रोo उभान ने कहा पेड़ पौधे हवा,भोजन के साथ-साथ हमारे द्वारा उपयोग किये जाने वाले अन्य दैनिक उत्पादों के आवश्यक स्रोत हैंI फारेस्ट कंजर्वेशन का उद्देश्य यही है कि हम अधिक से अधिक पेड़ –पौधे लगाये और मौजूदा पेड़ पौधों को नष्ट होने से बचाएं।

साथ ही कहा कि पानी की समस्या से पूरा विश्व विकट परिस्थितियों से जुझ रहा हैं, अगर पानी को संरक्षित न किया गया तो भविष्य कष्टकारी होगा, पानी को बचाना समाज के हर वर्ग की जिम्मेदारी है, विकास की दौड़ में प्राकृतिक जल स्रोत विलुप्त की कगार में है, जो बचे भी है तो केवल मवेशियों के लिए चारागाह ही बन कर रह गए हैं।इस संकट से निपटने के लिए सरकार और समाज को मिलकर कोई कारगर नीति बनानी होगी।

इस मौके पर बोलते हुए मनमोहन सिंह बिष्ट ने बताया कि परिस्थितिकी तंत्र आधारित दृष्टिकोण के तहत प्राकृतिक जल स्रोतों को कैसे रिचार्ज/पुनर्जीवित किया जाय जिससे भविष्य में सभी को स्वच्छ पानी उपलब्ध हो और आने वाली पीढ़ियों का जीवन बचाया जा सकें । उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण का मतलब उसका पूजन करने के समान होता हैंI हमारे देश में पर्वत,नदी,वायु,पेड़-पौधे सभी मानव जाति के साथ जुड़े हुए हैI लेकिन बढ़ते विकास के कारण इसे लगातार नुकसान पहुँच रहा है जिसके लिए जन जागरूकता फैलाना आवश्यक हो गया हैं, तभी हम अपने पर्यावरण को संरक्षित करने में कामयाब हो सकते हैं।

कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के कार्यक्रम अधिकारी डॉo संजय कुमार ने कियाI डॉo संजय कुमार ने प्रभागीय वन अधिकारी मनमोहन सिंह बिष्ट मुनि की रेती को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके द्वारा पीपल, गुलमुहर, आखरोट, आंवला, नीम, मौरपंखी, एलोविरा,लेमन टी ग्रास गुडहल आदि फूल, फलदार एवं जड़ी बूटी वाले पौधे उपलब्ध कराए गए है, जिनको कॉलेज के मुख्य द्वार धौलापनी नेशनल हाईवे के आस-पास और माँ कुंजापुरी पैदल मार्ग पर रोपित किया गया साथ ही बताया कि यहाँ पर जो प्राकृतिक जल स्रोत है उनकी साफ-सफाई का अभियान भी छात्र/छात्राओं ने चलाया जिससे उनकों संरक्षित किया जा सकेंI कार्यक्रम में समस्त प्राध्यापक एवं कर्मचारीगण के साथ सभी स्वंयसेवी उपस्थित रहेंI सभी छात्र/छात्राओं को सूक्ष्म जलपान के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया I

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!