क्षेत्रीय समाचार

चमोली जिले की राजनीति में अहम् भूमिका निभाने वाली पिंडर घाटी में दम तोड़ रही संचार व्यवस्था

-रिपोर्ट हरेंद्र बिष्ट-

थराली, 10 सितम्बर। विकासखंड देवाल की राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले पिंडारी क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक गांवों के ग्रामीण आज भी संचार सुविधा के लिए छटपटाने पर मजबूर बने हुए हैं।इस क्षेत्र के ग्रामीणों को संचार सुविधा दिलाने के लिए खड़ा किया गया। जिओ का मोबाइल टावर जहां पिछले 6 वर्षों से शोपीस बना हुआ हैं, वही भारत की सबसे बड़ी संचार कंपनी बीएसएनएल का टावर एक बेहद छोटे क्षेत्र को ही अव्यवस्थित रूप से अपनी सेवा दे पा रहा है।

देवाल ब्लाक की राजनीति में पिंडारी क्षेत्र का लंबे समय से दबदबा रहा हैं, बावजूद इसके आज भी इस क्षेत्र की गिनती ब्लाक के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में की जाती हैं।आज जबकि इस ब्लाक के अन्य भाग संचार सुविधा का भरपूर लाभ उठा रहे हैं वही पिंडारी क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक गांवों की करीब 7 हजार की आवादी इस सुविधा को पाने के लिए छटपटा रही हैं।इस क्षेत्र को संचार सुविधा मुहैया कराने के लिए 2011-12 में बीएसएनएल ने खेता में एक टावर बनाया किंतु यें टावर एक सीमित क्षेत्र में अव्यवस्थित रूप से अपनी सेवा दे रहा है। जबकि धारकुवरपाटा में जिओ के द्वारा लगाया गया टावर पिछले 6 वर्षों से शोपीस बनकर रह गया हैं। लंबे समय से इस क्षेत्र की जनता बेहतरीन संचार सेवा की सरकार से मांग करते आ रही हैं।जिसे मुहैया कराने में सरकार अबतक विफल रही हैं।
——-
6 वर्षों पूर्व धारकुवरपाटा में लगाया गया जिओ के टावर का संचालन शुरू करने की लगातार मांग के बावजूद भी जब निजी कंपनी ने सेवा शुरू नही की तों, जनता की मांग पर गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने बीएसएनएल से देवाल क्षेत्र में
धारकुवरपाटा,मुनालीखेत (मानमती), उदेपुर व धुराधारकोट में टावर स्थापित करने की स्वीकृति दिलवाई हैं।जिस पर कार्य गतिमान हैं। जल्द ही संचार सेवा से वंचित गांवों सुविधा से जुड़ने की संभावना बढ़ गई हैं।

युवराज सिंह बसेड़ा भाजपा।
मंडल महामंत्री देवाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!